Tag: Swami Leelashahji

परोपकारिता के महान आदर्श

(ब्रह्मलीन भगवत्पाद साँईं लीलाशाहजी महाराज प्राकट्य दिवस : 12 मार्च) साँईं श्री लीलाशाहजी महाराज कहते हैं : ‘‘जब द्वैत है ही नहीं तब दूसरों की भलाई करना यह स्वयं की ही भलाई करने के समान है ।’’ इस ब्रह्मवाणी का साकार रूप है संतश्री का जीवन ! एक बार बिहार में अकाल पड़ा तब पूज्य […]

Show Buttons
Hide Buttons